Pahari Jokes

rochaksite

Pahari Jokes:

Here is the collection of Some Pahari Jokes (kumaoni jokes) read it and enjoy…
Basically, the language used here is kumaoni which is famous in Uttarakhand (INDIA).

Kumaoni is spoken by over 2,360,000 (1998) people in Uttarakhand, primarily in districts Almora, Nainital, Pithoragarh, Bageshwar, Champawat, Udham Singh Nagar as well as in areas of Himachal Pradesh and Nepal. It is also spoken by Kumaonis resident in other Indian states; Uttar Pradesh, Assam, Bihar, Delhi and Madhya Pradesh.

The Central Pahari languages include, Kumaoni and Garhwali (spoken in the Garhwal region of Uttarakhand). Kumaoni, like Garhwali, has many regional dialects spoken in different places in Uttarakhand. Amongst its dialects, the Central Kumauni is spoken in Almora and northern Nainital, Northeastern Kumauni is in Pithoragarh, Southeastern Kumauni is in Southeastern Nainital, Western Kumauni is west of Almora and Nainital.

Source of Content: https://en.wikipedia.org/wiki/Kumaoni_language

Products from Amazon.in

 

मास्साब – *सौर ऊर्जा किसे कहते हैं?*
छात्र – *सौर ऊर्जा भी कोई ऊर्जा ठैरी.. सासु की ऊर्जा होने वाली ठैरी.. सौर तो बेचारा कर्जे में डुबा रहने वाला ठैरा..*
मास्साब उधिनबटी बेहोश छै।
मास्साब – *किलै रे आज स्कूल देरम किले आछै?*
कलुआ – *म्यर ईज बाज्यूक झगड़ है गोछी*
मास्साब- *पै झगड़ में त्यर के काम छी, तु स्कूल ऐ जाने?*
कलुआ – *कसिक आछि मासैप एक ज्वत ईजाक हाथ पार छी एक बाबु हाथ पार…*
वैलेंटाइन डे’क दिन, एक स्कूली चेली कैं एक दगड़ी लौंडेल गुलाबौक फूल दी बेर आपुंण प्यारौक इजहार करा,
तो वील जबाब दी –
चल हट रनकारा…
हमौर वेलेंटाइन न्हातिन
ये साल… हमरी आमाँ मरि रे.

अगर सुबह का भूला शाम को घर आ जाये तो उसे कुमाऊनी में क्या कहेंगे
??
?
?
?
??
???
????
किलै रे कठुवा रात्ती बटी आपुण बाबु की बरयात में जै रछिये…………..??

बच्चे को सुलाती माँ-
अंग्रेज- Good night son
देशी माँ – सो जाओ बेटा, शुभ रात्रि
कुमाँउनी माँ- सैजा रे नैहुन्या… आब त भूत ले सी गै हुनेला.
😛  🙄  😀
एक लड़का शादी के लिये गांव की सीधी-सादी लड़की देखने गया.
लड़की – दाज्यू! तुमार कतुक भै-बैंणि छन
लड़का – ऐल तक एक भाया एक बैंणि छ्यां, आब एक बैंणि आजि हैगे.
😛  🙄  😀
रामजी की चिट्ठी सीता ते.
मेरी प्यारी सीता तु कन छे ?
मेंते तेरी याद ओणी चा !
अच्छा सुण मेरा त्वेते हनुमान बादर मा काफल दिया छान.
गिण ले अगर एक भी काफल कम होलू ता वे बांदर पूछड़ी माँ आग लगे दे !
अर वे रावण तै बोली दे क़ि मेर आदमींन तू ख़तम कन
सीता मेरी रिफिल खतम होणी चा !
आपरू ध्यान रखी !
‘ तेरु राम ‘
घनघोर जगल बिटि .
😛  🙄  😀

एक Education Officer पहाडक स्कूल में एक छात्र थैं :

EO – बताओ संज्ञा को english में क्या कहते हैं?
छात्र डरन डरने…. मास्सैब ना ऊन !!
EO – very good बैठ जाओ………..शाबाश!!!!!!!!

😛  🙄  😀
लडका – मैं तियार लिजि बंग्ल, गाडि, कार, और सुनक ढेर लगै दियोंल .
लडकी – आज अलमुवाड मिलि सकछा ?
लडका – अगर अलमुवाड कि जीप मिलि जालि जरूर औंल …..
😛  🙄  😀
टीचर > हे गबरा क नौना ! बता उत्तराखंड में कतका बाँध छिना ?
स्टुडेंट > गुरूजी… एक तो च छकना बांद , दुसर बांद Furki Baand, तीसरी च माया बांद
😛  🙄  😀

*उत्तराखंड में लड़कों का जीना इतना आसान नहीं है..*

शादी में थोड़ा खुल के नाच क्या लेते हैं…
ओरते
कहने लग जाती हैं की…
..फलांणा च्यल ले बर्बाद ह्ववेगो…*

🙂 🙂  🙂

😛  🙄  😀
कटकी चहा से विस्की-रम-बीयर बार तक !
लकड़ी के चौख से डाइनिंग टेबल तक !
तिमूली के पात से बोन चायना क्राकरी तक !
हाथ से सपोड़ा-सपोड़ी से छुरी कांटे तक !
हिसोयी काफों दूधभात से मैगी चाउमीन मोमो तक !
ऐसा ठैरा और बल से You know तक !
बाप रे ! भौते तरक्की कर ली ठहरी हमने ! ???
😛  🙄  😀

Rajnikant recently came to Pithoragarh & Almora…

Rajani in a Resort : enna raskala give me a cup of tea.. fast…fast.

After going back to Chennai in a restaurant : “ओ दाज्यु यक गिलास चहा दिदिया यार .. जल्दी बाजी झन करिया …”

🙂 🙂  🙂

😛  🙄  😀
भाई साहब हम पहाड़ियों में लड़ाईयों के भी प्रकार(category)है ।
1-फतोड़ा-फतोड़ ,2-मारा-मार। 3-काटा-काट 4-धदोड़ा-धदोड़ 5-थेचा-थेच ???????
😛  🙄  😀

कुमाउनी में कुछ हिंदी फिल्मो के शीर्षक :

१. TITANIC – नाव फरकि गे
२. Anaconda – आदिम खाणी वाल स्याप
३. आवारा पगला दीवाना – पगली गियो साल
४. देवदास- शरबिया
५. अजब प्रेम की गजब कहानी – अन्कस प्यार क क्याप कहानी
६. मै हूँ ना – मी छियो ना
७. कुछ कुछ होता है – क्याप क्याप हु छ
८. धड़कन – धक् धक्काट
९. दंगल – थेचा-थेच
१०. एक था टाइगर – एक छो बाघ

🙂 🙂  🙂

😛  🙄  😀

*मार्टिन लूथर किंग ने कहा*
*”अगर तुम उड़ नहीं सकते तो, दौड़ो !*
*अगर तुम दौड़ नहीं सकते तो,…चलो !*
*अगर तुम चल नहीं सकते तो,……रेंगो !*
*पर आगे बढ़ते रहो !”*

तभी एक उत्तराखंडी ने बीड़ी बुझाते हुऐ कहा :-
वो सब तो ठीक है,
पर
.
.
.
.
*जाण का छू????**

😛  🙄  😀
खीम दा अंग्रेजी सीखने के लिये अल्मोड़ा से इंग्लैंड गये..
10 महीने अंग्रेज़ी सीखने के बाद वो अपने शहर अल्मोड़ा वापिस आ गया…
कुछ दिन बाद, खीम दा के पास एक कॉल आया —–
Caller– की हाल हे रि खीम दा ?
खीम दा– who is calling ?
Caller — त्वील तो हद कर दी ला यार ?
# उल्लुपठ्ठा , जेम्स स्टीफन बोलीं रयूं इंग्लैंड बटि
तेर अंग्रेजीक मास्टर ..
भूल गे छे रे कि तू ….. 🙂 🙂  🙂
😛  🙄  😀

खिमुली – य जो रोज तुम फैसबुक में रोमांटिक शायरी लिखछा कि,
ये तेरी जुल्फे है जैसे की रेशम की डोर , ?
य कैक लिजी लिखछा ?

खीमदा – त्यर लीजी तो लिखनू मै लाटी ! और को भै मेरि जिंदगी में….???

खिमुली – पै कभते त रेशमे डोर अगर हरि साग में ए जाछि तो किले चिल्लाछा हो ! 🙂 🙂  🙂

😛  🙄  😀

Next Page: More Pahari Jokes [Page 2]

Related posts

One Thought to “Pahari Jokes

Leave a Comment